धार्मिक जुलूस पर होटल से पत्थर फेंके गए थे – नूंह का होटल ध्वस्त

हरियाणा के नूंह में एक होटल “सहारा होटल” को बुधवार, 3 अगस्त को अधिकारियों द्वारा ध्वस्त कर दिया गया, क्योंकि यहाँ से धार्मिक जुलूस पर होटल से पत्थर फेंके गए थे। यहाँ बुलडोजरों और पुलिस कर्मियों की एक टीम द्वारा तोड़फोड़ की गई और होटल पूरी तरह से जमींदोज हो गया।

यह होटल नूंह के टौरू इलाके में स्थित था और कथित तौर पर इसका मालिक एक मुस्लिम व्यक्ति था। होटल से फेंके गए पत्थरों से धार्मिक जुलूस में शामिल कई लोग घायल हो गए.

नूंह में 29 जुलाई को सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी, जब दो समूहों के बीच मामूली विवाद झड़प में बदल गया। हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। नूंह और गुरुग्राम में कर्फ्यू लगा दिया गया और हरियाणा के कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गईं.

होटल का ध्वस्तीकरण नूंह में तनावपूर्ण माहौल का एक और संकेत है। जिले में मुसलमानों की बड़ी आबादी है और हाल के वर्षों में सांप्रदायिक हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं।

होटल के विध्वंस पर मिश्रित प्रतिक्रिया हुई है। कुछ लोगों ने विध्वंस का स्वागत करते हुए कहा है कि आगे की हिंसा को रोकने के लिए यह एक आवश्यक कदम है। अन्य लोगों ने विध्वंस की आलोचना करते हुए कहा है कि यह सामूहिक दंड का एक रूप है और यह केवल नूंह में मुस्लिम समुदाय को और अधिक अलग-थलग करने का काम करेगा।