Zomato के शेयरों में गिरावट, लेकिन ब्रोकरेज फर्मों का रुझान पॉजिटिव

ऑनलाइन फूड और ग्रॉसरी डिलीवरी प्लेटफॉर्म Zomato के शेयरों में आज भारी गिरावट देखने को मिली। इजराइल और ईरान के बीच तनाव के कारण वैश्विक बाजारों में गिरावट का असर घरेलू बाजार पर भी पड़ा है। Zomato के शेयर 4 फीसदी से अधिक गिरकर 190 रुपये के स्तर पर आ गए हैं।

हालांकि, ब्रोकरेज फर्मों का Zomato को लेकर रुझान पॉजिटिव है। यूबीएस, ICICI सिक्योरिटीज और जेएम फाइनेंशियल जैसे ब्रोकरेज फर्मों ने Zomato के शेयरों के लिए 250 रुपये से 300 रुपये तक का लक्ष्य रखा है।

ब्रोकरेज फर्मों का कहना है कि Zomato के क्विक कॉमर्स बिजनेस की तेजी से बढ़ोतरी और मार्जिन में सुधार की संभावनाओं को बाजार में कम करके आंका जा रहा है। उनका मानना है कि आने वाले समय में Zomato के शेयरों में अच्छी तेजी आ सकती है।

Zomato के शेयरों का प्रदर्शन:

  • पिछले साल 17 अप्रैल 2023 को Zomato के शेयर 53.05 रुपये के एक साल के निचले स्तर पर थे।
  • इसके बाद एक साल में यह करीब 277 फीसदी उछलकर 12 अप्रैल 2024 को 199.75 रुपये पर पहुंच गया।
  • यह Zomato के शेयरों के लिए रिकॉर्ड हाई है।
  • 23 जुलाई 2021 को Zomato के शेयर घरेलू बाजार में लिस्ट हुए थे।
  • आईपीओ निवेशकों को यह शेयर 76 रुपये के भाव पर जारी हुआ था।

निष्कर्ष:

Zomato के शेयरों में भारी गिरावट के बावजूद, ब्रोकरेज फर्मों का रुझान पॉजिटिव है। उनका मानना है कि आने वाले समय में Zomato के शेयरों में अच्छी तेजी आ सकती है।

अस्वीकरण:

यह जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। निवेश करने से पहले कृपया अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह लें।