3 Idiots Movie Dialogues in Hindi – Aamir Khan

‘थ्री इडियट्स‘ फिल्म, जो सबसे प्रसिद्ध हो गई है, एक दिलचस्प कहानी और संदेश के साथ संपन्न है। इसमें बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट, आमिर खान, महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 3 इडियट्स एक उद्घोषणा है जो छात्रों के बीच में स्वतंत्रता, नवाचार और सत्य के प्रतीक बनती है, संघर्षों से भरी दुनिया में भी एक आपातकालीन मुस्कान के लिए विचारशील विचारधारा प्रस्तुत करती है। फिल्म ‘थ्री इडियट्स’ की कहानी और संदेश जितना अच्छा है, उतने ही दिलचस्प हैं इस फिल्म के डायलॉग्स। आप हमें बताइए कि इनमें से आपको कौन सा डायलॉग सबसे ज़्यादा पसंद है?

आज रात को अंडरवेयर बिना होल वाली पहनना…

पिछले बीस साल से इन्होंने निरंतर इस कॉलेज में बलात्कार पे बलात्कार किए…

बाहर आ………नहीं तो मैं तेरे दरवाजे पर मूत्र विसर्जन करूंगा…

स्तन होता सभी के पास है… सब छुपा के रखते हैं… देता कोई नहीं…

बड़ी दुविधा थी, दोस्त को संभालते कि दोस्त की मां के आंसू पोंछते… फिर हमने सोचा हटाओ यार, मटर पनीर पे कॉन्संट्रेट करो…

दोस्त अगर फेल हो जाए तो दुख होता है… लेकिन अगर दोस्त फर्स्ट आ जाए तो ज्यादा दुख होता है…

जहांपनाह तुस्सी ग्रेट हो, तोहफा कबूल करो…

ऑल इज़ वेल…

सक्सेस के पीछे मत भागो, एक्सीलेंस का पीछा करो, सक्सेस झक मारके तुम्हारे पीछे आएगी…

एग्जाम तो बहुत होते हैं, बाप मोस्टली एक ही होता है…