30+ Ashram web series Dialogues in hindi आश्रम वेब सीरीज के डायलॉग

फिल्म ‘आश्रम’ एक वेब सीरीज है जो 28 August 2020 में रिलीज़ हुई थी। इस वेब सीरीज को ओ टी टी प्लेटफार्म ‘MX player’ पर रिलीज़  किया गया था। फिल्म सिस्टम और अंधविश्वास की ऐसी कहानी है, जिसमें ड्रग्स, जमीन हड़पना, रेप, हत्या, जालसाजी और ढोंगी बाबा को दिखाया गया है।

फिल्म में एक गरीबों वाला बाबा (Bobby Deol) है। ये बाबा तरह तरह-तरह के अवैध काम को अंजाम देता है। जो एक बार बाबा के आश्रम में आ जाता है वो कभी बहार नहीं निकल पाता है। फिल्म की असल स्टोरी तो आपको फिल्म देखने पर ही पता चलेगी। यहाँ पर हमने कुछ ऐसे डायलॉग लिखें हैं जिन्हें फिल्म में काफी पसंद किया गया है।

Ashram dialogue Pammi (Aditi Sudhir)

hamare hath ka pani bhe na peete ye log aage kese badhne denge

हमारे हाथ का पानी भी ना पीते ये लोग आगे कैसे बढ़ने देंगे

Ashram web series dialogue in hindi

 

suar ke bacche keechad mai khele to he theek

सूअर के बच्चे कीचड़ में खेलें तो ही ठीक सड़क पे नाचंगे आ जावेंगे गाड़ी के नीचे

 

tatte chahe jitne bade ho jayen rehte neeche hi hai

टट्टे चाहे जितने बड़े हो जाएं रहते हमेशा नीचे ही हैं

SI Ujagar Singh (Darshan Kumaar) ashram movie dialogue

 

tujhe badi khaj mach rahi hai kon hai tu

तुझे बड़ी खाज मच रही है कोण है तू

 

aatu jhatu khabron ko breaking news bana ke dikhate ho

आटू झान्टू खबरों को ब्रेकिंग न्यूज़ बना के दिखाते हो

 

jaha noto se hoti hai kayde kanun ki aisi ki tesi usi ko india main kehte hai democrasy

जहां नोटों से होती है कायदे-कानून की ऐसी की तैसी, उसी को इंडिया में कहते हैं डेमोक्रेसी

 

saval koi bhe ho javab hai thanku

सवाल कोई भी हो जवाब है- थैंक यू

Kashipur Waale Baba Nirala (Bobby deol) dialogue in ashram

 

mai updesh nahi sandesh deta hu shanti ka

मैं उपदेश नहीं, सन्देश देता हूँ – शांति का

 

sharir ke liye hr ang jaruri hai upr vala bhi neeche vala bhi

शरीर के लिए हर अंग जरूरी है ऊपर वाला भी नीचे वाला भी

Safalta ki kunji dialogue

 

safalta ki kunji kehti hai ki saval km or kaam jyada kro

सफलता की कुंजी कहती है की सवाल कम और काम ज्यादा करो

Sadhu Sharma dialogues in aashram web series

 

puri puri puran hi chaap di tum logon ne to

पूरी पूरी पुराण ही छाप दी तुम लोगों ने तोे