वोडाफोन आइडिया का FPO: क्या निवेश करना चाहिए? | Vodafone Idea FPO: Should You Invest?

वोडाफोन आइडिया, भारत की तीसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी, 18 अप्रैल को अपना फॉलो-ऑन-पब्लिक ऑफर (FPO) खोलने वाली है। यह FPO सफल होने पर देश का अब तक का सबसे बड़ा FPO होगा।

लेकिन क्या निवेशकों को इसमें पैसा लगाना चाहिए?

इस सवाल का जवाब देने से पहले, आइए इस FPO से जुड़ी 10 महत्वपूर्ण बातों को समझते हैं:

FPO के बारे में जानकारी (About the FPO)

1) तारीख:

  • FPO 18 अप्रैल को खुलेगा और 22 अप्रैल को बंद होगा।

2) प्राइस बैंड:

  • 10 से 11 रुपये प्रति शेयर

3) लॉट साइज:

  • 1,298 शेयर (₹14,278)

4) आरक्षण:

  • 50% QIB के लिए
  • 15% NII के लिए
  • 35% रिटेल निवेशकों के लिए

5) उपयोग:

  • 12,750 करोड़ रुपये 4G और 5G में निवेश के लिए
  • 2,175.31 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम भुगतान के लिए
  • बाकी कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए

कंपनी के बारे में (About the Company)

6) प्रोफाइल:

  • भारत की तीसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी
  • दुनिया की छठी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी (ग्राहक संख्या के आधार पर)
  • 2G, 3G, 4G सेवाएं प्रदान करती है

7) वित्तीय स्थिति:

  • वित्त वर्ष 2024 के पहले 9 महीनों में ₹23,564 करोड़ का घाटा
  • ₹32,045 करोड़ का राजस्व
  • ARPU ₹145
  • ₹2.15 लाख करोड़ का कर्ज (दिसंबर 2023 तक)
  • ₹5,385.4 करोड़ का कर्ज 2024 में चुकाने के लिए

जोखिम (Risks)

  • बड़ी बकाया राशि (विशेष रूप से टावर वेंडर्स को)
  • लगातार घाटा
  • भारी कर्ज
  • मुनाफे की संभावना कम
अन्य महत्वपूर्ण बातें:
  • बुक-रनिंग लीड मैनेजर: जेफरीज, एक्सिस कैपिटल, SBI कैपिटल मार्केट
  • रजिस्ट्रार: लिंक इनटाइम
  • आवंटन तिथि: 23 अप्रैल
  • क्रेडिट तिथि: 24 अप्रैल

निष्कर्ष:

वोडाफोन आइडिया का FPO निवेशकों के लिए जोखिम भरा हो सकता है, खासकर कंपनी की भारी कर्ज और लगातार घाटे को देखते हुए।

FPO में पैसा लगाने से पहले, निवेशकों को कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन, भविष्य की संभावनाओं और जोखिमों का सावधानीपूर्वक मूल्यांकन करना चाहिए।